Experiencing Life...

Live..Learn..Think


Waqt ki kashti...

A poem on life in general, treating time as a travel on boat..

वक़्त की कश्ती में संवार
होकर चलें  जा रहा हूँ ...
वहीँ  से ही इस जहाँ को निहारते
जा रहा हूँ ।

जब किनारा छोड़ा था
नासमझ बेफिक्र सा था ।
आज बी खुद को
समझदार नहीं कह सकता ।




 वक़्त की कश्ती में संवार
होकर चलें  जा रहा हूँ ...
वहीँ  से ही इस जहाँ को निहारते
जा रहा हूँ ।

तसवीरें हर पल बदलती हैं ।
सिर्फ तसवीरें ही नहीं उसमें
बसी ज़िन्दगी बी बदलती है ।
मानो स्थिरता नामक कोई चीज़ ही न हो।

वक़्त की कश्ती में संवार
होकर चलें  जा रहा हूँ ...
वहीँ  से ही इस जहाँ को निहारते
जा रहा हूँ ।

सिर्फ तसवीरें ही नहीं,
हालतें बी बदलती हैं ।
कबी बहाव का साथ होता ,
तो कभी विरोध होता है ।
पर कश्ती तोह चलती ही है।
बिना रुके बिना थमें बस चलती है।

वक़्त की कश्ती में संवार
होकर चलें  जा रहा हूँ ...
वहीँ  से ही इस जहाँ को निहारते
जा रहा हूँ ।
इस बहाव ने कइए बार
चौराहे पर ला खड़ा किया ।
असमंजस की स्थिति पैदा हो जाती
बार रुकने का  तोह प्रश्न ही नहीं था...
क्यूंकि कश्ती को तोह चलना था बस चलना था..

आज बी
वक़्त की कश्ती में संवार
होकर चलें  जा रहा हूँ ...
वहीँ  से ही इस जहाँ को निहारते
जा रहा हूँ ।

                                                            -ध्रुव

8 comments:

  1. Very interesting post. And a nice website too. Check out My Anime Blog if you have time.

    ReplyDelete
  2. Great Post, I love to read articles that are informative and actually have good content. Thank you for sharing your experiences and I look forward to reading more.

    ReplyDelete
  3. Thanx a lott!!
    I will try to post as much informative content as possible!

    ReplyDelete
  4. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  5. very nice Dhruv...
    you posted ur link on my blog a long time back but luckily got a chance to visit today as i m lazy in visiint my own blog..but it wa worth thanks sharing!

    Keep writing!

    Jasmeet
    http://emotestar.blogspot.com
    http://kavitayenjashn.blogspot.in

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thanx a tonn jasmeet..:)
      I was actually amazed by the designing and presentation of your blog..as expressive as it can be..:)

      Delete
  6. Wow, must say you are a good writer, keep writing.

    I hav wrttn very few hindi poems, not actually a poem but my own stroy, it would love if you visit Me.

    http://sunnymca.wordpress.com/tag/swwweetttiiieeee/

    ReplyDelete

Reactions are encouraging!
Have your say!
(You can comment using facebook plugin as well)

Facebook